शुक्रवार, 11 मार्च 2011




                                             
                                 गूगलबाबा  के  चालीस  कामचोर 
आप  सबने  अली  बाबा  और  उनके  चालीस  कामचोरों  के  बारे  में  तो  सुना  ही  होगा , लेकिन  मैं  यहाँ  बात  कर  रही  हूँ  गूगल  बाबा  और  उनके  चालीस  निरे  काम  चोरों  की . चार  सौ  बीस  खूबियों  से  लैस  इन  प्रजातियों  को  गूगल  बाबा  ने  भलीभांति  पहचान  लिया  है .कामचोरी  की  इन्तहा  ये  की  इनमे  से  सिर्फ  पंद्रह  -सोलह  ही  क्लास  में  पाए  जाते  हैं . गलती  से  भी  इन्हें  शरीफ  और  सीधा  -साधा  मत  समझिएगा .क्योंकि  ये  मोस्ट  वांटेड  हैं . इनकी  कारगुजारियों  का  चिटठा इनके  ब्लॉग  पर  चस्पा   है . assignment  करने  को  लेकर  इनके  पचहत्तर  बहाने , नोटबुक  पर  लिखे  इनके  गुप्त  वार्तालाप  भगवान्  भी  न  जाने . गूगलबाबा  समय -समय  पर  इनकी  कामचोरी  को  पॉलिश  करने   के  लिए  assignment  की  जीवन घुट्टी पिलाते रहते  हैं .  अभी  पिछले  दिनों  ही  हम  सोलह  को  एक  दूसरे  का  interview लेने  का  टास्क  दिया  गया . ऐसा  लगा  कि सिर ओखली  में  आ गिरे  हैं  और  गूगलबाबा  उनसे  खेल  रहे  हैं . हमारी  सरदार  के  लिए  तो  ये  वाकई  अग्नि  परीक्षा  थी . ऐसा  लग  रहा  था  कि  सोलह  खली  एक  साथ  रिंग  में  उतर  आये  हैं . लेकिन  इन  शेरों को  काबू  करना  हमारे  रिंग  मास्टर  को   अच्छी  तरह  से  आता  था , इसके  लिए  assignment submit   करने  की  डेडलाइन मिली . इस  बार  वाकई गूगलबाबा  भाकौंवा बन  के  हम  सब  को  डरा  रहे  थे . इसी  के  साथ  शुरू  हो  गया  क्लास , करियर  और  जिंदगी  का  प्रैक्टिकल . दूरदर्शन  के  सीरियल  हम  लोग  की  तरह  इन  सबकी  की  भी  अपनी  खूबियाँ   हैं . यहाँ  मिस  सिरीयस को  परेशानी  इसबात  से  है  की  गूगलबाबा  उनकी  कामचोरी  की  गंभीरता  समझ  नहीं  पा  रहे  हैं . तो  वनराज  बनने  की  ख्वाहिश  पाले  एक  लीडर चोर हर  चोरी  का  अगुवाकर  है . एक  godmother सबको  कूल -डूड  चोर  बनाने  की  जिम्मेवारी  संभाले  हुए  है , तो  दूसरी  ओर पानीचोर मौका  मिलते  ही  सबको  पानी  से  जलाने  को  तैयार  बैठा  है . अब  तक  चोरी  में  सबसे  साफ़  सुथरा  रिकॉर्ड  दस्तक  नाम  के  चोर  का  है . धरमचोर  फौलाद  बन  चुका  है , जो  गूगल गुरु  के  लिए  परेशानी  का  सबब  बनता  जा  रहा  है . साथ  में  उसकी  अंध गुरु - भक्ति  खतरनाक  साबित  हो  सकती  है . लेकिन  हमें  उनकी  बाबागिरी  पर  पूरा  भरोसा  है  और  इसका  भी  कोई  न   कोई  तोड़   वो  निकाल  ही   लेंगे . इस  गैंग में  एक  चोर  नया  नया  है , जो  इन  शातिरों  के सामने  जम  नहीं  पा  रहा  है . अब  तक  तो  आप  जान  ही  गए  होंगे  की  गूगलबाबा  विद्यार्थियों  के  खतरनाक  व  सिद्ध  ओझा  हैं . इस  assignment  में  हमारे  लिए  ख़ुशी  की  बात  ये  थी  की  मीठा  खाने  को  मिल  ही  गया  भले  ही  वो  महीने  की  पांचवी  तारीख  थी .इस  टास्क  ने  हमें  खेल -खेल  में  बहुत  कुछ  सिखाया  है . गूगलबाबा  के  ये  चोर  बड़ी  तेज़ी  से  जिंदगी  के  फलसफे  चुराना  सीख  रहे  हैं . मेरे  जैसी  अव्वल  दर्ज़े  की  कामचोर   जो  सोचती  बहुत  कुछ  है  और  करती  कुछ  भी  नहीं . ये  उम्मीद  करती  है  की  बहुत  जल्द  ही  हमारी  क्लास  एक  आदर्श  गूगलिस्तान  बन  जाएगी , जहाँ  खेलेंगे  हम  गूगल -गूगल . गूगलबाबा  के  चाकलेट भरे  आशीर्वाद  से  हम  साथ - साथ  हैं . अंत  में  चोरी  की  ये  कुछ  पंक्तियाँ -"गूगल गुरु  हम  से  रीझि  कर , जो  कर  दे  एक   कमेन्ट ,लग आये तलब फिर  लिखने की बन जाये ब्लॉग के दबंग 

   

6 टिप्‍पणियां:

  1. संध्या बेटे
    लिखा है अच्छा है पर इसमें इतना रहस्य है कि रचना का विस्तार एक सीमित पाठक वर्ग तक ही हो पायेगा आपने सबके उपनाम दिए हैं पर इसका रहस्य नहीं सुलझाया है कृपया इस पोस्ट को ठीक तरह से दुबारा लिखें और तस्वीरों को व्यवस्थित तरीके से लगा इस पोस्ट की पहुँच का दायरा बढ़ाएं
    आभार
    गूगल बाबा

    उत्तर देंहटाएं
  2. ब्‍लागजगत पर आपका स्‍वागत है ।

    नि:शुल्‍क संस्‍कृत सीखें । ब्‍लागजगत पर सरल संस्‍कृतप्रशिक्षण आयोजित किया गया है
    संस्‍कृतजगत् पर आकर हमारा मार्गदर्शन करें व अपने
    सुझाव दें, और अगर हमारा प्रयास पसंद आये तो संस्‍कृत के प्रसार में अपना योगदान दें ।

    यदि आप संस्‍कृत में लिख सकते हैं तो आपको इस ब्‍लाग पर लेखन के लिये आमन्त्रित किया जा रहा है ।

    हमें ईमेल से संपर्क करें pandey.aaanand@gmail.com पर अपना नाम व पूरा परिचय)

    धन्‍यवाद

    उत्तर देंहटाएं
  3. शुभागमन...!
    कामना है कि आप ब्लागलेखन के इस क्षेत्र में अधिकतम उंचाईयां हासिल कर सकें । अपने इस प्रयास में सफलता के लिये आप हिन्दी के दूसरे ब्लाग्स भी देखें और अच्छा लगने पर उन्हें फालो भी करें । आप जितने अधिक ब्लाग्स को फालो करेंगे आपके ब्लाग्स पर भी फालोअर्स की संख्या उसी अनुपात में बढ सकेगी । प्राथमिक तौर पर मैं आपको 'नजरिया' ब्लाग की लिंक नीचे दे रहा हूँ, किसी भी नये हिन्दीभाषी ब्लागर्स के लिये इस ब्लाग पर आपको जितनी अधिक व प्रमाणिक जानकारी इसके अब तक के लेखों में एक ही स्थान पर मिल सकती है उतनी अन्यत्र शायद कहीं नहीं । आप नीचे की लिंक पर मौजूद इस ब्लाग के दि. 18-2-2011 को प्रकाशित आलेख "नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव" का अवलोकन अवश्य करें, इसपर अपनी टिप्पणीरुपी राय भी दें और अगली विशिष्ट जानकारियों के लिये इसे फालो भी करें । आपको निश्चय ही अच्छे परिणाम मिलेंगे । पुनः शुभकामनाओं सहित...

    नये ब्लाग लेखकों के लिये उपयोगी सुझाव.

    उत्तर देंहटाएं
  4. सुन्दर रचना, आपके ब्लॉग पर आकर अच्छा लगा, आपसे अनुरोध है की प्रेम व भाईचारा के प्रतीक " भारतीय ब्लॉग लेखक मंच" पर आकर follower बनकर हमारा सहयोग करें. हम आपकी प्रतीक्षा करेंगे. हमारा पता है.........www.upkhabar.in/
    कीर्ति हेगड़े .. प्रचारक ..----- भारतीय ब्लॉग लेखक मंच. ...

    उत्तर देंहटाएं
  5. beta accha likha hai mai is layak to nahi ki kisi ko bata saku lekin thoda aur accha likha ja sakta hai

    उत्तर देंहटाएं
  6. nice 1 bt mera role kaun sa h.... bhul gyi na mujhe.... bt its fun to read this

    उत्तर देंहटाएं