बुधवार, 2 फ़रवरी 2011

m for munni s for sheela

मुन्नी और शीला समाज में सेलिब्रटी बन चुकी है, चोरी छुपे ही सही humne राम राम की जगह  मुन्नी बदनाम का जाप शुरू कर दिया है. मुन्नी शीला banner तले कुछ भी लिखा जाए हम सब पढ़ ही डालते है. जैसे कुछ ज्यादा की चाहत हमे LSD दिखाती है. तुच्छे किसम के लेखो को कोई पढता नहीं है तो सोचा, हम जैसो का उद्धार, सरकारी अफसरों का बंटाधार करने वाली आनंद्दैनी हमारी अपने श्री श्री मुन्नी और श्री ४२० शीला की शरण में चला जाए. देव दस की चन्द्र मुखी भले न जानती हो की उसपर हरा रंग किसने डाला? लेकिन मुन्नी अच्छी तरह जानती है की गाँधी जी किस ATM में है. बसंती गब्बर क सामने वीरू की जान के लिए नाचती है लेकिन आज की शीला,मुन्नी में बोल्डनेस है. मै तुलसी तेरे आंगन की फिल्म जैसे उन्हें ये नहीं पूछना पड़ता की वो अपने सजन की क्या लगती है इन्हें अपने DARLING के लिए बदनाम होने और नोट फॉर यू कहने में कोई गुरेज नहीं. इतनी पब्लिसिटी  बटोरने क बाद इनका केस सीबीआई को सौप देना चाहिए. ये जानते हुए की क़त्रोच्ची और बाकि केसों की तरह इससे भी हाथ धो बैठोगी. जैसे म.प में लडकियों को मोड़ी, राजस्थान में छोरी,गुजरात में डिक्री,केरल में चिन्नमा और पंजाब में कुड़ी कहा जाता है वैसे ही मुन्नी उ.प बिहार का प्रोडक्ट है. और हद कर आपने टिंकू जिया. दरअसल जिया बड़ी बहन को कहते है. मुन्नी शीला पर इतनी झीभ लपलपाने का मकसद एक छोटी सी घटना से जुदा है, मेरे पड़ोस में पांच चाय साल की दो छोटी लडकिय मुन्नी शीला नाम क गाने पे डांस कर रही थी. पूछने पर पता चला  की ये उन्हें बहुत पसंद है. बच्चो की दबंगई पे मुझे हैर्रत हुई. समाज की सदी गली सोच  को साइड लगा कर उन्होंने अपनी पसंद जो बताई थी कौनसी क्लास में है दोनों ये तो बतागाई लेकिन ए फॉर अप्प्ल और बी का मतलब नहीं समझा पाई. कुछ और पूछ पाती की उसके पहले ही दोनों ने म फॉर मुन्नी स फॉर शीला धोक डाला. सुनते ही समझ गई की नेक्स्ट GENERATION की सोच झिंगालाला. हमारे मीडिया में खबरे मौसम की तरह आती और CHHA जाती है. कभी IPL मौसम,घोटालो का मौसम, खाप का मौसम और बयान बाजी मौसम, इधर एक दो मौसम से मुन्नी शीला चल रहा है. बाकी मौसमो की तरह इसने भी अपने इरादे JAHEER कर दिए हैं. हमारे भाषा पंडितो और परंपरा के पुजारियो को इस पर सोचना ही पड़ेगा क्योकि GENERATION नेक्स्ट की DICTIONARY  में अब शीला मुन्नी आम हो चुकी है.

1 टिप्पणी:

  1. tere articles hamesha hi dhamakedaar hote hai...pichle do jo tune padhaye the unki hi trha ye bhi mast hai..un dono ko bhi jaldi blog par post kr do..!

    उत्तर देंहटाएं